Breaking News

Free Cancer Hospital-Vaagaldhara Gujarat India

Free Cancer Hospital-Vaagaldhara Gujarat India

मेहरबानी करके इस आर्टिकल को पूरा और ध्यान से पढ़िए, और जिसको भी जरूरत है ऐसे लोगों को इस आर्टिकल का लिंक जरूर से शेयर कीजिए. क्योंकि वह व्यक्ति भी अगर कैंसर का दर्दी है, तो उसको भी Free Cancer हॉस्पिटल का फायदा जरूर से मिलेगा. और आपको भगवान का आशीर्वाद अवश्य मिलेगा और उसका भी आशीर्वाद आपको मिलेगा.

Free Cancer Hospital-Vaagaldhara Gujarat India
Free Cancer Hospital-Vaagaldhara Gujarat India


इस आर्टिकल में हम आपको Free Cancer हॉस्पिटल के बारे में बताएंगे. जहां आप जाकर बिल्कुल फ्री या फिर बिल्कुल कम खर्च में  Cancer का इलाज करवा सकते हैं.

 

भारत के गुजरात राज्य में एक नहीं लेकिन मेरी नजर में बहुत Free Cancer हॉस्पिटल है. जहां आपको किसी भी प्रकार का पैसा देने की जरूरत नहीं होती है. और आपको वहां कैंसर का फ्री इलाज या फिर मामूली fee लेकर के  Cancer का इलाज सही ढंग से किया जाता है.

 

Free Cancer हॉस्पिटल गुजरात के सूरत के पास वागलधारा में है. जहां आपको मामूली खर्च में कैंसर की आयुर्वेदिक पद्धति से ट्रीटमेंट किया जाता है. इसमें आपको 11 दिन का ट्रेनिंग-treatment दिया जाता है. वहां कैसे जाना है और वागलधारा Free Cancer हॉस्पिटल में क्या क्या सुविधा है,इसके बारे में नीचे बताया है.

Free Cancer हॉस्पिटल वाघालधारा, गुजरात INDIA-भारत

कैंसर की यह हॉस्पिटल गुजरात में वागलधारा गांव में है. यह हॉस्पिटल का नाम है "रसिकलाल मानिकचंद धारीवाल कैंसर हॉस्पिटल" और यह हॉस्पिटल का संचालन श्री प्रभाव हेम कामधेनू गिरिविहार ट्रस्ट-पालीताणा द्वारा किया जाता है.

 

Free Cancer हॉस्पिटल वागलधारा तक कैसे पहुंचे

Free Cancer हॉस्पिटल पहुंचने के लिए गुजरात से मुंबई जाने वाले नेशनल हाईवे पर सूरत से लगभग 78 किलोमीटर का अंतर है और गुजरात के वलसाड से 16 किलोमीटर दूर वागलधारा करके एक गांव है. इस वागलधारा गांव की राइट साइड "रसिकलाल मानिकचंद धारीवाल कैंसर हॉस्पिटल" उपस्थित है.

 Free Cancer हॉस्पिटल वागालधारा को google search भी कर सकते है. 

 

हजारों माइल में फैली यह हॉस्पिटल एरिया में खेत से पूरी तरह हरा भरा संकुल है. यह संकुल कोई आध्यात्मिक आश्रम से कम नहीं है.

 

यहाँ अति सुंदर और रमणीय जैन मंदिर और साथ में विशाल भोजन कक्ष भी उपलब्ध है. और यहां बहुत विशाल गौशाला भी है. इस गौशाला में करीब 400 से ज्यादा देसी गौ माता को रखा गया है. और इसी गौ माता की सहायता से कैंसर का आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज किया जाता है.

 

यहां पर कैंसर वाले दर्दी और उसका एक संबंधी को 10 दिन तक उपचार एवं ट्रेनिंग के लिए रखा जाता है. यहां 80 बेड की सुविधा उपलब्ध है. और दर्दी को नाश्ता और दोनों टाइम भोजन भी मिलता है.

Free Cancer हॉस्पिटल वागलधारा में एडमिट प्रक्रिया

Free Cancer हॉस्पिटल वागलधारा में सुबह 9:00 दर्दी को सिर्फ rs 50 में केस निकालना पड़ता है, और वह जरूरी है. और अपने साथ दर्दी की केस की फाइल, ऑपरेशन, कैमों करवाई हो तो साथ में इसका रिपोर्ट सब साथ में रखना होता है. या फिर  कैंसर की कोई भी सारवार की हो तो, उसकी डिटेल भी साथ में रखना जरूरी है.

 

Free Cancer हॉस्पिटल वागलधारा का Rules-नियम

 

(1) सुबह 10:30 se 12:30 और दोपहर 3:30 5:30 के समय में डॉक्टर द्वारा दर्द की जांच के बाद

     10 दिन के लिए दर्दी को एडमिट किया जाता है.

  याद रहे Free Cancer हॉस्पिटल वागलधारा में सिर्फ दर्दी - और उसके एक संबंधी को ही प्रवेश की    अनुमति दी जाती है.

(2) दर्दी को भोजन बिल्कुल मुफ्त दिया जाएगा. और संबंधी को सिर्फ rs 33 में 11 दिन तक रोज         सुबह  का नाश्ता, लंच और डिनर के लिए कूपन दे दी जाती है.

(3) Free Cancer हॉस्पिटल वागलधारा में एडमिट के समय आपको सिर्फ 1000rs की डिपाजिट देनी       होती है. जो 11 वे दिन  रसीद दिखाने के बाद आपको वह डिपाजिट परत मिल जाती है.

 

लेकिन अगर आप 10 दिन के पहले ही निकल जाते हो, तो आपको डिपाजिट वापस नहीं मिलेगी. डिपाजिट जप्त किया जाता है.

 

Free Cancer हॉस्पिटल वागलधारा का टाइम टेबल

A सुबह 5:30 बजे योग एंड प्राणायाम किया जाता है.

B 7:00 बजे गाय के पंचगव्य से मसाज किया जाता है (पंचगव्य में गाय के गोबर गोमूत्र गाय का दूध दही और गाय के घी से बनाया जाता है)

C 8;00 से 9;00 बजे तक नाश्ता दिया जाता है.

D 9;00 बजे गोमूत्र के साथ आयुर्वेदी दवा दी जाती है.

E 9;00 से 10:00 बजे शरीर के कैंसर ग्रस्त भाग पर गाय का गोबर और गोमूत्र का लेप लगाकर सुबह की धूप में बिठाया जाता है.

F सुबह 10:00 बजे आयुर्वैदिक काढा दिया जाता है.

G 11:00 बजे से 1:00 बजे तक भोजन (लंच) दिया जाता है, और भोजन के बाद आयुर्वेदिक दवा दी जाती है.

H 2:00 से 3:00 बजे तक सभा खंड में चर्चा होती है, जिसमें दर्दी के खानपान और इलाज के लिए प्रश्नावली के जवाब दिए जाते हैं.

I 3:00 बजे आयुर्वेदिक गाढ़ा दिया जाता है.

J 5:00 बजे से 6:00 बजे तक शाम का खाना दिया जाता है, उसके बाद आयुर्वेदिक दवा की टेबलेट दी जाती है.

K 8:00 से 9:00 बजे तक भजन-कीर्तन, सत्संग और उसके बाद हर एक दर्दी को गाय का दूध दिया जाता है, पीने के लिए.

 

बस यही कार्यक्रम हर रोज 10 दिन तब तक चलता रहेगा. 11 वे दिन आपको 1 महीने की दवाइयां (लगभग 4000 तक की) लेकर अपने घर जा सकते हैं. और अपने घर पर हर रोज 1 साल तक यहां बताए गए नियम और परहेज के साथ इलाज करते रहना है.  दो महीने में दवाइयां लेने के लिए आपको आना पड़ेगा.

 

Free Cancer हॉस्पिटल वागलधारा की अच्छी बातें

-- यह सभी के लिए एक समान नियम और कानून पद्धति है. चाहे वह अमीर हो या चाहे वह गरीब हो सभी के लिए समान नियम है. ना कोई अमीर ना कोई गरीब और ना कोई किसी भी प्रकार का भेदभाव.

--- यहां किसी भी प्रकार का वीआईपी कल्चर नहीं होता है, मतलब नो वीआईपी कल्चर

--- यहां का स्टाफ सेवाभावी, मिलनसार, अति निष्ठावान, प्रामाणिक और बहुत विनयी है.

--- यहां डॉक्टर,Staff और दर्दी, सभी को एक समान ही खाना मिलता है.

-- यहां सत्संग और भोजन के समय पर मोबाइल का उपयोग निषेध है.

--- आठवें दिन अगर आपकी इच्छा या फिर आपको अनुकूलता हो, तो  यहां की ऑफिस से एक फॉर्म मिलेगा, आपको यह फॉर्म के साथ दर्दी और आपका आधार कार्ड जोड़कर वलसाड रेलवे स्टेशन जाकर दर्दी के लिए टोटल फ्री,  और आपके लिए 50% डिस्काउंट पर कंफर्म टिकट मिल जाएगी. 1 महीने के बाद आने जाने के लिए भी फॉर्म ले जाने से यह सुविधा फिर से आपको प्राप्त होगी.

 

शुभम भवतु

शुभ कामना के साथ जय हिंद

फ्री कैंसर हॉस्पिटल वागलधारा के Contact

081418 80808

06354 514 539


No comments