Breaking News

राफेल और पैंथर हेलीकाप्टर भारत में बनाने का फ़्रांस का great ऑफर

राफेल और पैंथर हेलीकाप्टर भारत में बनाने का फ़्रांस का great ऑफर

राफेल और पैंथर हेलीकाप्टर भारत में बनाने का फ़्रांस का great ऑफर
 राफेल और पैंथर हेलीकाप्टर भारत में बनाने का फ़्रांस का great ऑफर

हाल के समय में भारत अपनी रक्षा के लिए, रक्षा क्षेत्र मजबूत करने पर भार दे रहा है| रक्षा क्षेत्र में एक दुसरे के सहयोग करने के लिए, भारत और फ़्रांस ने एक साथ कदम आगे बढ़ाये है. फ़्रांस ने भारत को राफेल जेट लड़ाकू विमान और पेंथर हेलिकॉप्टर भारत में उत्पादन करने के लिए एक बड़ा ऑफर दिया है| अब फ़्रांस का पेंथर यूटिलिटी हेलिकॉप्टर का 100 % संपूर्ण भारत में ही असेंबल किया जाएगा। और दूसरा फ़्रांस का लड़ाकू विमान राफेल जेट की 70 फीसदी तक की असेंबली लाइन भारत में शरु की जा सकती है| इससे भारत को मेक इन india अभियान को आगे बढ़ाने में बहुत बड़ी मदद मिलेगी | मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दोनों देशो में टेक्नोलॉजी ट्रांसफर करने पर बातचीत हुई है |

यह खबर भी पढ़े – (1) Muslim woman built a temple at home

                (2) ताइवान के राष्ट्रपति को जान से मार डालेंगे: चीन,  Globle Time's warning

राफेल में price का फायदा होगा

बता दें कि भारत और फ्रांस के बीच वार्षिक रणनीतिक संवाद को लेकर पिछले हफ्ते फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के राजनयिक सलाहकार एमैनुएल बॉन दिल्ली में मौजूद थे| उसी समय दोनों देशो के साथ रक्षा सहयोग कर ने के लिए बातचीत हुई थी। मीडिया में आई खबर के मुताबिक, भारत फ़्रांस से और ज्यादा लड़ाकू राफेल जेट विमान की खरीद कर सकता है| भारत में इन्हें असेंबल करने से कीमत काफी कम हो जाएगी, ऐसा माना जा रहा है ।

भारत, मध्यम रेंज के हेलिकॉप्टर भारतीय नौसेना के लिए खरीदने की तलाश में है। और किसी भी मौसम में एयरबस AS565 MBe का इस्तेमाल किया जा सकता है। क्योकि ये हेलिकॉप्टर मल्टी रोल मीडियम हेलिकॉप्टर है, जिसे शिप के डेक, ऑफशोर Loketion और लैंड-बेस्ड साइट्स से Opretion के लिए बनाया गया है।

परमाणु ऊर्जा संरचना

इस हफ्ते भारत फ्रांस रणनीतिक बातचीत  में  Nuclear power corporation of INDIA के 9,900 मेगावाट की जैतापुर परमाणु ऊर्जा संरचना को लेकर भी चर्चा-बातचीत हुई है। भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल इस चर्चा के दौरान उपस्थित रहे थे। विदेश मंत्रालय के एक बयान में जानकारी दी गई है,कि दोनों देशों ने आतंकवाद से निपटने, साइबर सुरक्षा, रक्षा सहयोग, समुद्री सुरक्षा, क्षेत्रीय और वैश्विक मामलों और हिंद प्रशांत क्षेत्र में सहयोग समेत बहोत सारे अनेक मुद्दों पर चर्चा की।

ref by amarujala

No comments